JEE में इस लड़के ने हासिल की 12वीं रैंक,MIT में भी हुआ सिलेक्शन

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने JEE Mains Result 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया है, जिसमें 24 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किया. इस परीक्षा में पुणे के रहने वाले चिराग फालोर ने 12वीं रैंक हासिल की है. आइए जानते हैं उनके बारे में. 

चिराग पुणे के रहने वाले हैं, उन्होंने कहा, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) में  एडमिशन के लिए होने वाली JEE Mains एंट्रेंस परीक्षा सबसे कठिन है.

आपको बता दें, चिराग ने न सिर्फ JEE की परीक्षा पास की, बल्कि वह मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) अमेरिका, जो कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कॉलेजों में से एक है, में प्रवेश पाने में भी कामयाब रहे हैं.

MIT में सीट रिजर्व होने के बावजूद, उन्होंने JEE की परीक्षा दी. चिराग ने बताया, “मैं चार साल से IIT प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहा हूं और इसलिए, इस परीक्षा में शामिल होना चाहता था.”

मैं ये बात कह सकता हूं कि IIT एंट्रेंस सबसे कठिन प्रवेश परीक्षा है. IIT में एडमिशन के लिए पैरामीटर पूरी तरह से अलग हैं. IIT एडमिशन के लिए एक लंबी तैयारी की आवश्यकता होती है.

https://twitter.com/narendramodi/status/1220693995606568967?s=20

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चिराग जनवरी सत्र में भी JEE Mains परीक्षा में शामिल हुए थे. जिसमें उन्होंने  99.9897 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. जिसके बाद उन्होंने सितंबर में फिर से JEE की परीक्षा दी, जिसमें 100 पर्सेंटाइल के साथ 12वीं रैंक हासिल की.

MIT के लिए अभी तक चिराग को US वीजा नहीं मिला है, क्योंकि कोरोना वायरस के कारण दूतावास (embassies) बंद हैं. ऐसे में वह ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं.

वह MIT के लिए रात को ऑनलाइन कक्षाएं ले रहे हैं जो 3 बजे समाप्त होती हैं. वह दिन में सोते हैं. इसी के साथ वह जेईई एडवांस्ड की तैयारी भी कर रहे हैं, इस परीक्षा का आयोजन 27 सितंबर को होना है.

बता दें कि चिराग को बाल शक्ति पुरस्कार से भी नवाजा गया है. उन्हें पहले अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार दिया गया था. चिराग खगोल भौतिकी में रिसर्च करना चाहते हैं. उन्हें हमेशा से सितारों में दिलचस्पी रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *